हम साथ साथ हैं फुल एचडी मूवी

तुझ्यात जीव रंगला सिरियल

तुझ्यात जीव रंगला सिरियल, मुझे ये बात कहनी तो नही चाहिए, मगर बात ये है कि जब हमारे मुसलमान मर्द एक साथ चार बीवियाँ अपने निकाह में रख सकते हैं,तो फिर में एक ही वक्त में दो मर्दो की बीवी बन कर क्यों नही रह सकती मैने यासिर की बात का जवाब दिया. विनोद्द्द्द्द्द्द्द को तो मज़ा आ ही रहा है, मगर तुम्हें विनोद से किए जाने वाले मेरे प्यार का ये अंदाज़ केसा लगा रहा है यासिर विनोद के पेट और नाभि के अंदर अपने नुकीली ज़ुबान को फेरने के दौरान मैने सोफे पर साथ बैठे हुए अपने पहले शौहर यासिर से सवाल किया.

मेरे मम्मो के उपर,साइड्स और दरमियाँ वाली जगह पर अपनी गरम ज़ुबान और गीले होंठों को फेरते हुए विनोद अब मेरे मोटे और भारी मम्मो पर अपने प्यार का तूफान बरसा रहा था. मेरी जान तुम्हारी प्यासी चूत में अपना पूरा लंड डालने के बाद मुझे तो यूँ महसूस हो रहा है, कि जेसे तुम्हारी ये गरम चूत की ये गर्मी तो मेरे लंड को पिघला कर ही रख देगी . मुझे यूँ अपने चूतड़ उठा उठा कर लंड के मज़े लेते देख कर विनोद ने भी पीछे से मेरी चूत को ज़ोर दार धक्कों से चोदते हुए मुझ से कहा.

साजन कुछ बोलना चाहता था.. तभी उसका फ़ोन बजने लगा, उसने फ़ोन उठाया और बस इतना कहा कि 5 मिनट में आता हूँ.. वेट करो.. तुझ्यात जीव रंगला सिरियल रात के करीब 10.30 बज रहे होंगे दिल्ली के घर में दो लड़के और एक लड़की बैठे बियर पी रहे थे। अब ये कौन हैं इनके बारे मैं ज़्यादा नहीं बताऊँगी.. बस आप इनके नाम जान लीजिए।

सेक्सी मूवी गांव की लड़कियों की

  1. रानी- ना बाबा ना.. बहुत दर्द होगा मुझे.. मेरी सहेली ने सब बताया हुआ है और तुझे तो कुछ आता भी नहीं.. कैसे कर पाएगा तू?
  2. विजय- अरे क्या रंगीला भाई.. ये गाँव की गोरी है.. आप शहर के नुस्खे ना आजमाओ.. हा हा हा.. ये नहीं पटने वाली.. पित्ताची लक्षणे सांगा
  3. तभी वहाँ साजन भी आ गया.. उसके साथ कोमल भी थी। आज कोमल ने लाल रंग की स्कर्ट और काली टीशर्ट पहनी हुई थी, बहुत हल्का सा मेकअप किया हुआ था.. उसके होंठों पर लाल लिपस्टिक उसकी खूबसूरती को और बढ़ा रही थी। मैंने बैठे हुए ही अपनी टाँगे सामने की तरफ फ़ैला रखी थीं। इस हालत में सिन्हा आंटी भी मेरी ही तरह बैठ गईं और अपने पैरों को मेरी तरफ कर दिया था। बाहर से आती हल्की हल्की रोशनी में हमारी आँखें मिलीं और हम एक दूसरे को देख कर मुस्कुरा दिए।
  4. तुझ्यात जीव रंगला सिरियल...मेरी जो हालत हुई.. क्या बताऊँ मैं.. भाई के लौड़े का स्पर्श बहुत ही मजेदार था, वो पल शब्दों में नहीं बताया जा सकता है.. बस महसूस किया जा सकता है। नहाने के दौरान मैं संध्या के जिस्म से चिमटते हुए अपनी बहन के मुम्मों और चूत को छेड़ रहा था जबकि जवाब में संध्या भी मेरे लौड़े से छेड़छाड़ करने में मसरूफ़ थी |
  5. रानी की माँ के मलहम-पट्टी होने के बाद दोनों ने उनको घर छोड़ा.. जहाँ रानी की माँ सरिता ने उनको बहुत धन्यवाद दिया। आआअह्ह ह्ह...हम्मम्मम्म...बस सोनू...अब बस... इतना कहते कहते उसने अपनी चूत से ढेर सारा पानी मेरे मुँह में छोड़ दिया।

सोन्याचा आजचा भाव 2020 नाशिक

भाईईईईई अब बस करो और मुझे घर जाने दो, अम्मी मेरा इंतज़ार कर रही होंगी अपनी बहन की चूत में फ़ारिग होने के बाद भी जब मैं काफ़ी देर तक अपनी बहन के मुम्मों को चूमता चाटता रहा तो फिर तंग आकर मुझे अपने आपसे ज़बरदस्ती अलग करते हुए संध्या आख़िर बोल ही पड़ी |

मैंने अपनी गुदा सिकोड़कर उसके लंड को पकड़ा तो वह समझ गया कि अब मुझे मजा आ रहा है। उसने करीब-करीब पूरा लंड सुपाड़े तक बाहर खींचकर निकाला और फिर धीरे-धीरे अंदर धँसाने लगा। मैंने फिर छेड़ा- ये ही तो में जाने की कोशिश कर रहा हूँ, कि जब मुझ में बच्चा पेदा करने वाले स्पर्म्ज़ नही हैं, तो फिर तुम माँ केसे बन सकती हो सायरा मेरी बात को ना समझते हुए यासिर ने गुस्से में मुझे देखते हुए कहा.

तुझ्यात जीव रंगला सिरियल,कि इतने में मुझे और यासिर को विनोद की आवाज़ सुनाई दी. चलो अब हम लोग सुहाग के बिस्तर पर चलते हैं और उधर जा कर यासिर तुम अब सायरा की टाँगों को अपने हाथ से मेरे लिए खोलना,ताकि में तुम्हारी और अपनी बीवी सायरा की चूत के पानी का ज़ायक़ा एक बार फिर चख लून्न्न्न्न्न्न्न.

जय- अरे कुछ नहीं.. बस ऐसे ही.. तू सुना क्या चल रहा है.. तेरे एग्जाम कैसे रहे और अबकी बार तू कहीं नहीं जाएगी.. समझी अब बहुत हो गया बस.. अब तू हमारे साथ ही रहेगी..

नही जानते मैं कितनी सेक्सी हू, मुझे नरेन्द्र से अपनी चूत मरवा-मरवा कर बोरियत होने लगी है, अब मुझे तुम जैसेತಮಿಳು ಸಕ್ಸ್ ವಿಡಿಯೋ

धत्त, शैतान कहीं के…. प्रिया ने डाँटते हुए कहा और आँखें दिखने लगी, लेकिन उसकी आँखें मुस्कुरा रही थीं और उनमे साफ़ साफ़ ये दिख रहा था कि उसे भी मेरी छेड़ छाड़ में मज़ा आ रहा है। रानी- आआ आआ बा..बू..जी.. आह्ह.. इसस्स.. मुझे कुछ हो रहा है ओह.. हट जाओ वहाँ से.. आह्ह.. ससस्स उफ़फ्फ़ मेरा आह्ह.. निकलने ही वाला है।

बताती हूँ बाबा, इतनी जल्दी क्या है। अगर आपको नींद आ रही है तो मैं जाती हूँ। प्रिया ने थोड़ा सा बनावटी गुस्सा दिखाते हुए कहा।

रश्मि- चल हट.. तू भी ना.. कुछ भी बोल रही है.. तू और तेरा भाई बहुत गंदे हो.. ऐसा काम करते हो मगर में ऐसी नहीं हूँ समझी..,तुझ्यात जीव रंगला सिरियल चाची की ऐसी बात सुन कर ऐसा लगा जैसे मेरे लंड से पानी निकल जाएगा और मैने अपना मूह उसके दूध मे घुसा दिया

News